महराजगंज: वृजमनगंज ग्राम प्रधान ने 22 दलितों को किया बेघर
महराजगंज: वृजमनगंज ग्राम प्रधान ने 22 दलितों को किया बेघर

महराजगंज के वृजमनगंज गांव के प्रधान ने एक ही परिवार के 22 दलितों को गांव के बाहर निकाल दिया गया है। जिसकी वजह से दलितों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

महराजगंज: वृजमनगंज गांव के प्रधान ने एक साथ 22 दलितों को गांव के बाहर निकाल दिया गया है। ग्राम प्रधान की इस हरकत से दलितों यहां के दलितों में भारी रोष है। दलितों ने जिलाधिकारी से मदद की गुहार लगायी है। गांव से बाहर निकालने के कारण  दलितों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। दलित परिवार ग्राम प्रधान द्वारा गांव से बाहर निकाले जाने पर अपने रिश्तेदारों के यहां रहने को मजबूर हैं।

पढ़िये क्या है पूरा मामला  

महदेवा गांव के निवासी भगवानदास समेत 22 लोग एक ही परिवार के सदस्य है। कई वर्षों से ये लोग इसी गांव में रहते हैं। इनके बुजुर्गो ने इनको इस गांव में बसाया था। लेकिन आज महदेवा गांव के प्रधान और प्रतिनिधि का कहना है कि यह लोग बंजर जमीन में अवैध तरीके से रह रहे हैं। वहीं पीड़ित दलित परिवार का कहना है कि जबसे यह गांव के प्रधान हुए है, हम लोगों को आये दिन प्रताड़ित करते रहते है। यहां तक कि धानी पुलिस चौकी के सिपाही भी प्रधान के साथ मिलकर इनके घर जाकर उन्हें आये दिन धमकियां देते रहते है ।

महदेवा गांव के निवासी भगवानदास समेत 22 लोग एक ही परिवार के सदस्य है। कई वर्षों से ये लोग इसी गांव में रहते हैं। इनके बुजुर्गो ने इनको इस गांव में बसाया था।
महदेवा गांव के निवासी भगवानदास समेत 22 लोग एक ही परिवार के सदस्य है। कई वर्षों से ये लोग इसी गांव में रहते हैं। इनके बुजुर्गो ने इनको इस गांव में बसाया था।

पीड़ित दलित परिवार 3 दिनों से जिलाधिकारी के आफिस में अपनी फरियाद सुनाने आ रहे है, लेकिन डी.एम महराजगंज से फरियादियों की मुलाकात नही हो पाई। पीड़ित परिवार डी.एम के आफिस के बाहर जमीन पर बैठ कर लोगों से आप बीती सुना रहे हैं।

इस सम्बन्ध में गांव के प्रधान ने डाइनामाइट न्यूज़ से बातचीत के दौरान कहा कि वो लोग अपने मर्जी से गए है और गांव में अवैध तरीके से रह रहे है, सारे आरोप बेबुनियाद है।

Leave a Reply