gorakhpur

गोरखपुर के छात्रा मौत से पहले बोली छात्रा- जिंदा रहे तो बताएंगे धक्का देने वाले का नाम | हुआ ये खु

गोरखपुर. देवरिया के नेहरू नगर स्थित मॉर्डन सिटी मांटेसरी स्कूल में सोमवार को हुई छात्रा नीतू की मौत का मामला गहराता जा रहा है। उसकी बहन नेहा ने मंगलवार को बातचीत में बताया कि मौत से पहले नीतू ने कहा था- ”मुझे स्कूल की छत से धक्का दिया गया था, जिंदा रहे तो उसका नाम बताएंगे।”स्कूल के पीछे सड़क पर गिरी थी नीतू…

gorakhpur

– प्रत्यक्षदर्शी मोनू के मुताबिक, सोमवार को 11:15 बजे स्कूल में लंच हुआ था। स्कूल में थर्ड फ्लोर पर टॉयलेट बना हुआ है। लंच के दौरान काफी छात्राएं ऊपर ही चली जाती हैं।

– नीतू थर्ड फ्लोर से स्कूल के पीछे सड़क पर गिरी थी और जब गिरी तो एक कॉलेज का छात्र और मैंने बाइक से उसे डिस्ट्र‍िक हॉस्पिटल पहुंचाया। उसके करीब आधे घंटे बाद स्कूल प्रबंधक हॉस्पिटल पहुंचे थे।
बोली थी- ठीक हो गई तो बताऊंगी नाम

– नीतू की बड़ी बहन नेहा का कहना है कि जिला हॉस्पिटल से डॉक्टर ने उसको मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया।

– रास्ते में जाते वक्त नीतू को होश आया था, उस समय उसने मां को बताया था- ”मुझे स्कूल की छत से किसी ने धक्का दिया था,जिंदा रहे तो उसका नाम आप सभी को बताएंगे।”

– उसके कुछ देर बाद एम्बुलेस में ही उसकी मौत हो गई। फिर आधे रास्ते से ही पापा उसको लेकर घर चले आए। इसके बाद पुलिस घर आई फिर पोस्टमॉर्टम के लिए लेकर चली गई। बॉडी मिली तो देर रात ही सभी लोग उसके अंतिम संस्कार के लिए चले गए।

स्कूल प्रशासन ने दी थी गलत जानकारी

– मृतक छात्रा के भाई राजेश के दोस्त का कहना है कि स्कूल प्रशासन ने गलत सूचना दी थी कि नीतू के पैर में हल्की चोट लगी है।

– उसके बाद हम लोग स्कूल पहुंचे तो वहां नीतू थी ही नहीं। छात्रों ने बताया कि स्कूल के थर्ड फ्लोर से वो गिर गई है। उसको इलाज के लिए डिस्ट्रि‍क हॉस्पिटल ले जाया गया है।

– स्कूल के प्रबंधक भी पहुंचे थे। जब डॉक्टरों ने उसे मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया, तो स्कूल के प्रबंधक से हमने कुछ नहीं पूछा और जल्दी-जल्दी में हॉस्पिटल से निकल गए।

– कुछ देर के बाद हम लोगों को पता चला कि स्कूल बंद करके वो गायब हो गए हैं। उसके बाद से अभी तक स्कूल से संबंधित कोई व्यक्ति खोज-खबर लेने नहीं आया।

 

क्या कहते हैं नीतू के पि‍ता

– पिता परमहंस के मुताबिक, मेरी बेटी दर्द से तड़प रही थी, मुझसे देखा नहीं गया तो मैंने उससे गोरखपुर मेडिकल कॉलेज रेफर करा लिया और आधे रास्ते में पहुंचा तभी बेटी ने दम तोड़ दिया था।

– बेटी ने मेरी गोद में ही अंतिम सांस ली।

DM ने गठित की है 3 सदस्यीय टीम

– देवरिया डीएम सुजीत कुमार ने मामले को गंभीरता से लेते हुए 3 सदस्यीय टीम गठित कर जांच के आदेश दिए हैं।

– इस टीम में जिला विद्यालय निरीक्षक उपेंद्र त्रिवारी, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी शिवचरन और एसडीएम राकेश सिंह शामिल हैं। मंगलवार को इस टीम और फोरेंसिक टीम ने मौके पर पहुंचकर एक-एक बिंदु पर गहनता से जांच की है।

– मामले में जिला विद्यालय निरीक्षक शिवचरन का कहना है कि डीएम साहब के निर्देश पर हम लोग जांच कर रहे हैं, जो भी जांच रिपोर्ट होगी डीएम सर को दी जाएगी।

ये था पूरा मामला

– शहर के चकियवा थना क्षेत्र के रहने वाले परमहंस की 16 साल की बेटी नीतू चौहान मॉर्डन सिटी मांटेसरी स्कूल में कक्षा 9 की छात्रा थी।

– आरोप है, दोपहर को वो स्कूल की थर्ड फ्लोर पर गई थी। इसी बीच किसी ने उसे धक्का दे दिया, इससे वो नीचे गिर गई और गंभीर रूप से घायल हो गई।

– छात्राओं के शोर करने पर स्कूल प्रशासन एक्ट‍िव हुआ और उसे जिला अस्पताल पहुंचाया गया। जहां से प्राथमिक उपचार के बाद उसे मेडिकल कॉलेज गोरखपुर रेफर कर दिया। वहां पहुंचने से पहले ही उसकी मौत हो गई।

Leave a Reply